एटा: कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों के लिए मिले 4 वैल्टीलेटर

217
कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों के लिए मिले बैल्टीलेटर जिला चिकित्सालय में लगवाते हुए जिलाधिकारी सुखलाल भारती।

एटा। कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों के उपचार हेतु जनपद को शासन से चार बैल्टीलेटर प्राप्त हो गए हैं। डीएम सुखलाल भारती, सीडीओ मदन वर्मा ने जिला अस्पताल पहुंचकर बैल्टीलेटर को अपने समक्ष इंस्टॉल कराया। डीएम ने कहा कि बैल्टीलेटर प्राप्त होना जनपद के लिए बड़ी उपलब्धि है, कोरोना वायरस से संक्रमित संदिग्ध मरीजों को बैल्टीलेटर पर रखा जाएगा। बैल्टीलेटर पर रखने के बाद कोरोना संदिग्ध मरीजों को बेहतर उपचार हो सकेगा। डीएम ने इस दौरान वार्ड में समुचित साफ सफाई के साथ ही नियमित रूप से सैनिटाइजेशन कराने हेतु मौजूद सीएमओ डा० राजेश अग्रवाल को निर्देश दिए। ब्लड बैंक में २५० यूनिट के सापेक्ष ४१ यूनिट ब्लड पाया गया, जिसकी प्रगति में सुधार के निर्देश दिए।

डीएम, सीडीओ ने इस दौरान निर्माणाधीन ०८ बैडेड कोविड हॉस्पीटल का भी औचक निरीक्षण किया। डीएम ने कहा कि निर्माणाधीन अस्पताल को अतिशीघ्र तैयार किया जाए, जिससे कि वार्ड में मरीजां को रखा जा सके। वार्ड में शासन की मंशानुरूप मरीजों को सुविधाएं मिलनी चाहिए, जो भी कमियां हैं उन्हें शीघ्र दूर किया जाए। कोविड-१९ के तहत संदिग्ध मरीजों की देखभाल में किसी भी प्रकार की लापरवाही स्वीकार नहीं की जाएगी, लापरवाही बरतने वाले चिकित्सकों, मैडीकल स्टाफ के खिलाफ कड़ी कार्यवाही होगी।

डीएम ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से हमारा देश ही नहीं वल्कि पूरा विश्व लड़ रहा है। हम सभी को चाहिए कि सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करें, दिन में कई बार हाथों को साबुन से अवश्य धोएं, साथ ही कोरोना की लड़ाई में प्रशासन एवं पुलिस का सहयोग करें। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा० अजय अग्रवाल, सीएमएस डा० राजेश अग्रवाल सहित अन्य चिकित्सक एवं कर्मचारीगण मौजूद रहे।